Home Loan Kaise Liya Jata Hai | Home Loan Kaise Le 2021

दोस्तों अगर आप भी अपने सपनों का घर बनवाना चाहते हैं और आपके पास भी इतना नगद पैसा नहीं है कि आप अपने सपनों का घर अपने पैसों से बनवा पाओ और आप भी बेस्ट होम लोन(Home Loan Kaise Liya Jata Hai) के बारे में जानना चाहते हैं तो आपने सही आर्टिकल पर कदम रखा है आज मैं आपको भारत में मिलने वाली बेस्ट होम लोन के बारे में बताऊंगा।

दोस्तों होम लोन में लोन की ब्याज दर आपके लोन को बहुत प्रभावित करती है क्योंकि यह एक बड़ा और लंबे समय के लिए लोन होता है इसलिए होम लोन की एक-एक प्रतिशत की ब्याज़ दर भी लोन में बहुत फ़र्क निर्धारित करती हैं।

Home Loan Kaise Liya Jata Hai
Home Loan Kaise Liya Jata Hai

जब आपकी होम लोन की ब्याज दर कम होगी तो आपकी EMI से लेकर आपका टोटल इंटरेस्ट रिटर्न भी कम हो जाएगा और आप लोन का भरपूर लाभ उठा पाएंगे।

अगर आपको ब्याज दर में कमी करने पर लोन में होने वाले बदलाव को जानना है तो आप इस केलकुलेटर की माध्यम से आप अपनी लोन को केलकुलेट कर सकते हैं और एक -एक प्रतिशत कम ब्याज दर के कारण राशि में होने वाले लाभ और बदलाव को जान सकते हैं।

इसके अलावा आपको होम लोन लेते वक्त कई सारी फीस भी लगती है जैसे- प्रोसेसिंग फीस,पूर्व भुगतान शुल्क,CERSAI शुल्क आदि। इसलिए आपको होम लोन लेते वक्त इन सभी शुल्क पर ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है क्योंकि कई बार आपकी होम लोन ब्याज दर तो कम होती है परंतु आपकी प्रोसेसिंग फीस बहुत ज्यादा अधिक होती है इसलिए हमें लोन के सभी घटको पर ध्यान देना बहुत जरुरी होता है जिससे हमें सस्ते से सस्ता होम लोन मिल सके।

Contents

भारत के सबसे सस्ते होम लोन कौन से है?(Best Home Loan In India Hindi)

Sabse Sasta Home Loan
Sabse Sasta Home Loan

होम लोन कैसे लें? – Home Loan Kaise Le In Hindi

होम लोन में लगने वाले  ब्याज़ दर के प्रकार।

जैसे कि मैंने आपको बताया कि लंबे समय के लोन में ब्याज दर बहुत अधिक निर्भर करती है इसी प्रकार होम लोन में ब्याज दर दो प्रकार की होती है।

(1)फिक्स्ड ब्याज़ दर-

फिक्स्ड ब्याज़ दर मैं होम लोन की दर पूरे होम लोन के अंतराल में एक ही रहती है इसमें किसी भी प्रकार का बदलाव नहीं होता है जिस ब्याज दर से आपने लोन को एप्लाई किया है उसी ब्याज दर से आपको पूरी लोन अवधि पर समान ब्याज लगेगा।

इसी प्रकार फिक्स्ड ब्याज दर पर आपका लोन(Home Loan Kaise Liya Jata Hai) लेना बेहतर साबित होता है क्योंकि ब्याज दरों के भविष्य में बढ़ने के आसार होते हैं परंतु फिक्स्ड इंटरेस्ट रेट में सबसे अच्छा यह फायदा है कि आप किसी भी समय अपने फिक्स ब्याज दर को फ्लोटिंग व्यास घर में परिवर्तित कर सकते हैं।

उदाहरण-

उदाहरण के लिए अगर आप 30 लाख रुपए का लोन 30 वर्ष के लिए, 7% की फिक्स्ड वार्षिक ब्याज दर से लेते हैं तो आपको 30 वर्षों में 63 लाख रुपए का कुल ब्याज लगेगा और इसमें आपकी EMI 25833 रुपए की बनेगी।

(2)फ्लोटिंग ब्याज़ दर-

फ्लोटिंग ब्याज दर में आपकी होम लोन की ब्याज़ दर वर्तमान बाजार की अधीन होती है अर्थात आपकी होम लोन की ब्याज दर परिवर्तित होती रहती है इसमें आपकी ब्याज दर में वृद्धि और कमी दोनों हो सकती है अगर वर्तमान बाजार अच्छा होगा तो आपकी ब्याज पर कम होगी और अगर वर्तमान बाजार अच्छा नहीं होगा तो आप की ब्याज दर बढ़ेगी।

उदाहरण-

उदाहरण के लिए अगर आप 30 लाख रुपए की लोन राशि 30 वर्ष के लिए 7% की रेड्यूसिंग ब्याज दर पर लेते हैं तो आपको लगभग 41 लाख रुपए(लगभग) का कुल ब्याज देना पड़ेगा और आपकी EMI 19959 रुपये की बनेगी और इसमें आपको ओर कम ब्याज़ होने के आसार होते है।

इसे जरूर पढे – Bandhan Bank Se Business Loan Kaise Le

होम लोन लेने के लिए टिप्स क्या है?(Home Loan Kaise Le)

(1)अपने क्रेडिट स्कोर को 900 के आस पास रखे।

जिन आवेदक का क्रेडिट स्कोर कम होता है उन्हें अक्सर ज्यादा ब्याज दर देना पड़ता है इसीलिए आपको अपना क्रेडिट स्कोर 900 के करीब मेंटेन करके चलना चाहिए जिससे आपको होम लोन लेने पर कम से कम ब्याज दर पर लोन प्राप्त हो जाए।

(2)संयुक्त रुप से होम लोन के लिए अप्लाई करें।

आप अपनी पत्नी के साथ मिलकर होम लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं और अपने आप को होम लोन का प्राथमिक आवेदक बनाकर रख सकते हैं साथ ही साथ होम लोन में महिलाओं को मिलने वाले कम ब्याज दर के लाभ का भी आनंद उठा सकते हैं।

(3)होम लोन करें ट्रांसफर।

अगर आपके पुराने होम लोन मैं आपकी होम लोन संस्था आपसे ज्यादा ब्याज वसूल रही हैं तो आप अपना होम लोन का ट्रांसफर किसी कम ब्याज वाले संस्था पर करा सकते हैं इससे आपको कम ब्याज़ दर के साथ साथ लोन में अच्छा फायदा प्राप्त होगा।

(4)होम लोन की डाउन पेमेंट बढ़ाएं।

अगर आपको आपके द्वारा लिए गए होम लोन से जल्दी छुटकारा पाना है तो आप बीच-बीच में एक्स्ट्रा डाउन पेमेंट की पेमेंट कर सकते हैं जिससे आपका जल्दी से जल्दी लोन खत्म हो जाएगा क्योंकि अगर आप साल में एक या दो लाख रुपए की एस्ट्रो डाउन पेमेंट भी करते हैं तो आपका होम लोन आपके निर्धारित होम लोन के समय के 6 से 7 साल पहले ही खत्म हो जाएगा और इससे आपका ब्याज भी बहुत कम लगेगा।

क्योंकि जब जब आप एक्स्ट्रा डाउन पेमेंट करेंगे तो आपका बाकी होम लोन कम होता जाएगा और आपको ब्याज मैं भी काफी कमी देखने को मिलेगी।

(5)प्री पेमेंट करें।

अगर आपके पास एक्स्ट्रा पैसा आता है तो आप थोड़ी थोड़ी प्री पेमेंट करके भी अपने लोन को जल्दी से जल्दी खत्म कर सकते हैं और होम लोन के ब्याज़ से छुटकारा पा सकते हैं।

इसे जरूर पढे – Phonepe Loan

होम लोन की ब्याज दर को कौन-कौन से तथ्य प्रभावित करते हैं?

(1)क्रेडिट स्कोर।

आपका क्रेडिट स्कोर आपकी होम लोन(Home Loan Kaise Liya Jata Hai)  पर लगने वाले ब्याज दर को प्रभावित करता है अगर आपका क्रेडिट स्कोर 900 के आसपास है तो आपको कम से कम ब्याज दर पर होम लोन मिल जाएगा।

(2)आवेदक का जेंडर।

आवेदक का जेंडर भी होम लोन मैं लगने वाली ब्याज दर को प्रभावित करता है क्योंकि पुरुष आवेदक के मुकाबले महिला आवेदक को कम ब्याज दर पर होम लोन प्राप्त हो जाता है। महिला आवेदक को लगभग 0.5% ब्याज़ तक कि छूट मिल जाती है।

(3)ब्याज़ दर का प्रकार।

होम लोन में दो प्रकार की ब्याज दर होती है फिक्स्ड और फ्लोटिंग इसमें दोनों प्रकार की ब्याज दरों में अलग-अलग कुल ब्याज बनता है जिसमें की फिक्स्ड ब्याज़ दर स्थिर होती है परंतु फ्लोटिंग ब्याज़ दर मार्केट के हिसाब से कम ज्यादा होती रहती है।

(4)लोन राशि और समय।

आपकी द्वारा होम लोन में ली गई लोन राशि भी आपके ब्याज दर को निर्धारित करती है आपकी लोन राशि और लोन की अवधि जितनी अधिक होगी आपको उतना अधिक ब्याज देना पड़ेगा ।

(5)रोजगार का प्रकार।

आपका रोजगार भी आपको मिलने वाले लॉन मैं ब्याज निर्धारित करता है क्योंकि आपका रोजगार जितना अधिक सुरक्षित होगा आपको उतनी ही सुलभता से ओर कम ब्याज़ दर पर लोन दिया जायेगा जैसे – कोई भी सरकारी नौकरी।

परंतु अगर आपके पास कोई निर्धारित रोजगार नहीं है तो आपको लोन मिलन भी मुश्किल होगा और साथ ही साथ अगर आपको लोन मिलता भी है तो आपको ज्यादा ब्याज दर पर लोन प्राप्त होगा।

(6)होम लोन के प्रकार।

होम लोन के प्रकार भी आपकी ब्याज़ दर निर्धारित करते हैं क्योंकि होम लोन के सभी प्रकार में अलग-अलग मानक नियम निर्धारित होते हैं जिसकी कारण सभी होम लोन की ब्याज़ दर भी अलग-अलग होती है।

भारत में होम लोन देने वाला सबसे अच्छा बैंक कौन सा है?

भारत में होम लोन देने वाला सर्वश्रेष्ठ बैंक भारतीय स्टेट बैंक(SBI)है।

भारत का सबसे सस्ता होम लोन कौन सा है?

भारत का सबसे सस्ता होम लोन Kotak Mahindra Bank देता है जिसमें आपको 6.65% की ब्याज दर पर लोन मिलता है।

भारत का सबसे अच्छा होम लोन कौन सा है?

भारत का सबसे अच्छा होम लोन स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का है।

भारत का सबसे सुरक्षित होम कौन सा है?

भारत का सबसे सुरक्षित होना स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का लोन है।

सबसे सस्ता होम लोन कौन सा बैंक देता है?

भारत का सबसे सस्ता होम लोन Kotak Mahindra Bank देता है जिसमें आपको 6.65% की ब्याज दर पर लोन मिलता है।

होम लोन पर कितना ब्याज लगता है?

होम लोन की ब्याज दर 6.65% से शुरु होती है जोकि कोटक महिंद्रा बैंक की ब्याज दर है ।

होम लोन लेने के लिए क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

·         KYC डॉक्यूमेंट
·         आइडेंटिटी प्रूफ
·         आवेदक की फोटो
·         एड्रेस प्रूफ
·         6 महीनों का बैंक अकाउंट स्टेटमेंट
·         न्यूनतम 5 साल के  बिज़नेस का प्रमाण ( स्व-व्यवसायी के लिए )
·         नवीनतम सेलरी स्लिप

घर के लिए लोन कैसे लें?

आप घर के लिए लोन कोटक महिंद्रा बैंक के माध्यम से ले सकते है इसमें आपको 6.65% की ब्याज दर पर होम लोन मिल जाता है ।

होम लोन लेने में क्या क्या कागज लगते हैं?

·         KYC डॉक्यूमेंट
·         आइडेंटिटी प्रूफ
·         आवेदक की फोटो
·         एड्रेस प्रूफ
·         6 महीनों का बैंक अकाउंट स्टेटमेंट
·         न्यूनतम 5 साल के  बिज़नेस का प्रमाण ( स्व-व्यवसायी के लिए )
·         नवीनतम सेलरी स्लिप

होम लोन कितने प्रकार के होते है?

(1) जमीन खरीदने के लिए लोन
(2) घर बनवाने के लिए लोन
(3) घर में कुछ नया जुडवाने को लोन
(4) घर की मरम्मत के लिए लोन
(5) घर खरीदने के लिए लोन

होम लोन और पर्सनल लोन में क्या अंतर है?

होम लोन आप केवल घर से संबन्धित काम जैसे – घर बनवाना,घर की मरम्मत के लिए इस्तेमाल कर सकते हो और पर्सनल लोन को आप अपने किसी भी पर्सनल काम के लिए इस्तेमाल कर सकते हो ।

होम लोन कितने परसेंट में मिलता है?

होम लोन की निम्नतम ब्याज दर 6.65% से शुरु होती है।

होम लोन का रेट ऑफ इंटरेस्ट क्या है?

होम लोन का रेट ऑफ इंटरेस्ट 6.65% से शुरु होती है।

होम लोन के ब्याज कितने प्रकार के होते हैं?

होम लोन के ब्याज दो प्रकार के होते हैं।
(1)फिक्स्ड ब्याज़ दर
(2)फ्लोटिंग ब्याज़ दर

आपने होम लोन के बारे में सारी जानकारी तो ग्रहण कर ली होगी और यही आशा रहेगी कि आप इस आर्टिकल को पढ़कर होम लोन की बहुत सारी जानकारी ग्रहण कर पाए होंगे और हमारे आर्टिकल से आपको होम लोन प्राप्त करने में बहुत मदद हुई होगी ।

आशा करता हूं कि आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया होगा अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया हो तो आप हमारे आर्टिकल को फाइव स्टार रेटिंग और साथ ही साथ हमारे इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ और व्हाट्सएप ग्रुप में शेयर कर सकते हैं और अगर आपको हमारे आर्टिकल से कोई सवाल या सुझाव हो तो आप हमारी ईमेल Technicalg2020@gmail.com पर कांटेक्ट कर सकते हैं।

आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद।

Check Also

Cibil Score Check Free Online By Mobile Number

सिविल स्कोर कैसे चेक करें ? Cibil Score Check Free Online By Mobile Number.(Only 2min)

दोस्तों बैंक आपका लोन देगा या नहीं , इसमे आपके में सिबिल स्‍कोर की बहुत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe

Subscribe Loangrab to Our Email